जवाहर नवोदय विद्यालय (JNV) एडमिशन से लेकर पढ़ाई तक की जानकारी।

जवाहर नवोदय विद्यालय (JNV) :-

अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा के लिए अच्छे स्कूलों का चयन करना सभी माता पिता का मुख्य कर्तव्य होता है।

और सबसे ज्यादा समस्या तब होती है जब अच्छे स्कूलों का चयन करना होता है।

तो आइए हम आपको भारत के सबसे अच्छी शिक्षा प्रदान कराने वाले स्कूलों में से एक स्कूल जवाहर नवोदय विद्यालय (JNV) के बारे में।

अधिकांश बच्चों का सपना होता है कि उनका दाखिल जवाहर नवोदय विद्यालय स्कूल में हो जाये।

कक्षा 6वी से 12वी तक तक पढ़ाई के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय सबसे अच्छे स्कूलों में शुमार है।

आज हम आपको जवाहर नवोदय विद्यालय से जुड़े सभी सवालों के विषय मे जानकारी देंगे।

यहां एड्मिसन से लेकर पढ़ाई, रहने तथा खाने के व्यवस्था सभी चीजों की अच्छे से जानकारी देंगे।

जवाहर नवोदय विद्यालय क्या हैं?

जवाहर नवोदय विद्यालय

जवाहर नवोदय विद्यालय देश का शिक्षा के मामले में सबसे अच्छे स्कूलों में शुमार सरकारी स्कूल है।

भारतीय राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत सन 1986 में देश स्तर पर जवाहर नवोदय विद्यालय(JNV) का गठन किया गया।

इस समिति के अनुसार देश के हर एक जिले में एक (JNV) स्थापित होना चाहिए।

और ऐसा हुआ भी लगभग देश के सभी जिलों में एक JNV विद्यालयों की स्थापना की गई।

देश मे उच्च शिक्षा के लिए विख्यात JNV Colleges आज सबसे अच्छी शिक्षा तकनीकी के लिए जाने जाते है।

आपकी जानकारी के लिए बता दू की देश मे लगभग 661 JNV विद्यालय स्थापित किये जा चुके है।

जवाहर नवोदय विद्यालय JNV में प्रवेश

जवाहर नवोदय विद्यालय में छात्र 6, 9, तथा 11 कक्षा में दाखिला ले सकता है।

लेकिन उसे दाखिला लेने से पहले यह सुनिश्चित करना होगा कि वह 3 से 5वी तक किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से पढ़ा हो।

या किसी सरकारी स्कूल से पढ़ा होना चाहिए उसके बाद ही उसे JNV में प्रवेश लेने की सारी प्रक्रिया को शुरू करने दिया जाएगा।

कक्षा 6, 9, 11 में प्रवेश कैसे ले

6, 9 और 11वी कक्षा में प्रवेश लेने के अलग अलग नियम है।

जहा 6वी और 9वी कक्षा में प्रवेश लेने के लिए विद्यार्थी को JNVST यानी जवाहर नवोदय विद्यालय salection test के माध्यम में मिलता है।

जिसके लिए आपको online form भरना होता है।

यही 11वी कक्षा के लिए 10 के परीक्षा फल देखा जाता है।

6वी कक्षा में प्रवेश कैसे ले

कक्षा 6 में प्रवेश लेने के लिए क्या क्या आवश्यक है आइये जानते है।

सबसे पहले JNV का ऑनलाइन फॉर्म भरना होता है। जिसमे हमे मांगी गयीं सभी चीजों का सही सही विवरण saubmit करना होता है।

फॉर्म भरने की आयु सीमा 8से 12 वर्ष है।

याद रहे आप जो online form भरते है उसको सही सही fill करे क्योंकि यह फॉर्म सिर्फ एक बार भरा जाता है। उसके बाद आप इसको edit नही कर सकते है

Form fill करने के बाद आपको तय परीक्षा तिथि का इंतजार करना होगा।

परीक्षा तिथि की घोषणा के बाद आपका सलेक्शन टेस्ट होगा।

इसके बाद result जारी किया जाता है जिसमे मेरिट के आधार पर छात्रों का चयन होता है।

अगर आप परीक्षा में असफल होते है तो आप दूसरी बार परीक्षा नही दे सकते है। कोई भी विद्यार्थी दूसरी बार फॉर्म नही भर सकता है।

इसलिए आपकी कोशिश रहनी चाहिए कि आप पहले attemted में ही Qualify कर ले।

1 साल में कितने बच्चों का चयन होता है

प्रत्येक जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रति वर्ष 80 सीटों पर 80 बच्चों का चयन किया जाता है।

अगर कोई छात्र किसी भी कारणवश विद्यालय छोड़ कर चला जाता है तो उसकी जगह विद्यालय नए छात्रों का चयन कर सकता है।

JNV आरक्षण

80 सीटों पर छात्रों के चयन के कुछ नियम

80 सीटों में से 75% सीटों पर ग्रामीण इलाकों के बच्चों का चयन करना अनिवार्य है। 80 में 75% लगभग 60 बच्चों का।

Sc aur ST को 50% तक का आरक्षण दिया जाता है।

80 सीटों में से 1/3 सीटे लड़कियों के लिए निर्धारित की गई है। 27 सीट

3% सीटें दिव्यांगों के लिए सुनिश्चित की गई है।

  • javahar navoday vidhyalay official site:- Click Here

2 thoughts on “जवाहर नवोदय विद्यालय (JNV) एडमिशन से लेकर पढ़ाई तक की जानकारी।”

Leave a Comment

Open chat
Hello